0149_8कोलंबो. श्रीलंका क्रिकेट के लिए लगातार दूसरा दिन चौंकाने वाला रहा। रविवार को कुमार संगकारा ने टी-20 वर्ल्ड के बाद फटाफट फॉर्मेट से संन्यास लेने की घोषणा की थी, आज (सोमवार) पूर्व कप्तान महेला जयवर्धने ने भी वर्ल्ड कप खेलकर संन्यास लेने की घोषणा कर सभी को शॉक्ड कर दिया। टी-20 वर्ल्ड के पूरी तरह शुरू होने (सुपर-10 मुकाबला) में काफी समय है लेकिन श्रीलंका के दो बड़े खिलाडिय़ों का विकेट एक के बाद एक गिर गया। वर्ल्ड कप के बाद टी-20 में वे श्रीलंकाई जर्सी में नहीं दिखेंगे।

संगकारा की राह पर महेला?

टीम के साथी खिलाड़ी कुमार संगकारा की राह पर चलते हुए महेला जयवर्धने ने इंटरनेशनल टी-20 क्रिकेट से तो संन्यास ले लिया लेकिन आईपीएल सीरीखे टूर्नामेंट में खेलते रहने के फैसला के बारे में अभी कुछ जानकारी नहीं मिल सकी है। जयवर्धने ने सोमवार को कहा, ”बांग्लादेश में जारी ट्वेंटी-20 वर्ल्ड कप उनका अंतिम इंटरनेशनल टूर्नामेंट होगा।”

संगकारा ने कहा था कि वह फ्रेंचाइजी आधारित आयोजनों में खेलते रहेंगे लेकिन, पूर्व श्रीलंकाई कप्तान जयवर्धने ने ऐसी कोई बात नहीं कही। संगकारा की तरह जयवर्धने के भी फेंचाइजी पर आधारित टी-20 टूर्नामेंट्स में खेलने की उम्मीद जताई जा रही है।

संन्यास के पीछे कारण?

दोनों दिग्गज खिलाड़ियों ने दो दिन के अंदर संन्यास की घोषणा कर क्रिकेट जगत को चौंका दिया। ऐसा कतई नहीं है कि इन दोनों खिलाड़ियों ने बहुत पहले से संन्यास का मन बना लिया था। दरअसल, ईसीसी टी-20 वर्ल्ड कप से पहले श्रीलंकाई टीम और बोर्ड में विवाद हो गया था।

जूनियर खिलाड़ियों को भेजने की दी थी धमकी

खिलाड़ियों ने बोर्ड द्वारा प्रस्तावित इंसेटिव पेमेंट स्कीम को नकार दिया था। इसके बाद श्रीलंकाई बोर्ड ने सीनियर खिलाड़ियों को हटाकर जूनियर खिलाड़ियों की टीम टी-20 वर्ल्ड कप के लिए भेजने की धमकी दी थी। जिसके बाद से सीनियर खिलाड़ी बोर्ड से बेहद नाराज हैं। दोनों खिलाड़ियों के संन्यास के पीछे यही प्रमुख कारण बताए जा रहे हैं।

क्या थी श्रीलंकाई खिलाड़ियों की डिमांड?

आईसीसी प्रत्येक ग्लोबल टूर्नामेंट के लिए उसमें हिस्सा लेने वाले क्रिकेट बोर्डस को एक निर्धारित राशि देता है। खिलाड़ियों ने मांग रखी थी कि आईसीसी द्वारा दी जाने वाली राशि का 20 प्रतिशत खिलाड़ियों में बराबरी से बांटा जाए।
श्रीलंकाई बोर्ड के अड़ियल रवैये को देखते हुए खिलाड़ियों ने अपने हिस्से को 20 प्रतिशत से घटाकर 12 प्रतिशत कर दिया था। इसके बावजूद बोर्ड टस से मस नहीं हुआ। अपनी मांग पूरी ना होने के कारण खिलाड़ियों ने कॉन्ट्रेक्ट पर साइन करने से इनकार कर दिया था।

0133_1श्रीलंकाई बोर्ड ने रखा था इंसेटिव का प्रस्ताव

आईसीसी टी-20 वर्ल्ड कप खेलने के लिए श्रीलंका बोर्ड को 89 लाख डॉलर की राशि मिल रही है। श्रीलंकाई बोर्ड के प्रस्ताव के मुताबिक टीम को टूर्नामेंट खेलने के लिए वह 5 लाख डॉलर देगा। यदि टीम फाइनल तक पहुंचती है तो उसे अतिरिक्त 2.5 लाख डॉलर दिए जाएंगे। वहीं यदि टीम फाइनल में विजयी रहती है तो उसे अतिरिक्त 2.5 लाख डॉलर मिलेंगे। कुल मिलाकर टी-20 वर्ल्ड कप जीतने पर श्रीलंकाई टीम को को 10 लाख डॉलर मिलेंगे। यदि वह किसी भी स्टेज पर बाहर होती है तो उसे केवल 5 लाख डॉलर ही मिलेंगे।

टी-20 करियर
क्रिकेट के महान बल्लेबाजों में से एक जयवर्धने ने श्रीलंका के लिए 49 इंटरनेशनल टी-20 मैच खेले हैं। उन्होंने 31.78 के औसत से कुल 1335 रन बनाए हैं। उनका स्ट्राइक रेट 134 का रहा है।

तीन शतकवीरों में शामिल

धाकड़ बल्लेबाज जयवर्धने ने ट्वेंटी-20 मैचो में एक शतक भी लगाया है। उन्होंने 2010 के ट्वेंटी-20 विश्व कप में जिम्बाब्वे के खिलाफ 100 रनो की पारी खेली थी। उनके नाम आठ अर्धशतक भी दर्ज हैं। उनके अलावा ब्रेंडन मैक्कुलम और भारत के सुरेश रैना ने ही वर्ल्ड कप में शतक लगाया है।